Saturday, August 18, 2018

Best Story in Hindi - "खुशियों का राज़"

Best Story in Hindi इस आर्टिकल में हम आपको जबरदस्त कहानी बतायेगे। Best Story in Hindi निचे दी गयी है।

⇰ Best Story in Hindi - "खुशियों का राज़" :


Best Story in Hindi


    एक बार पचास लोगों का ग्रुप एक मीटिंग में हिस्सा ले रहा था.

    मीटिंग शुरू हुए अभी कुछ ही मिनट बीते थे कि जो वक्ता था वो अचानक ही रुका और सभी पार्टिसिपेंट्स को गुब्बारे देते हुए बोला की आप सभी को गुब्बारे पर इस मार्कल से अपना नाम लिखना हे.

    वक्ता के कहने पर सभी ने ऐसा ही किया, नाम लिखे हुए गुब्बारे को एक दुसरे कमरे में रखवा दिया.

    वक्ता ने अब सभी को एक साथ उस कमरे में जाकर पांच मिनट के अंदर अपना नाम वाला गुब्बारा ढूंढने को कहा.

    सारे पार्टिसिपेंट्स तेजी से रूम में घुसे और पागलों की तरह अपने नाम वाला गुब्बारा ढूंढने लगे लेकिन इस अफरा-तफरी में कोई भी अपने नाम वाला गुब्बारा नहीं ढूंढ सका.

 
    पांच मिनट के बाद सभी को बहार भर बुला लिया गया. वक्ता बोला अरे क्या हुआ? आप सभी खाली हाथ क्यों हे? क्या किसीको अपने नाम वाला गुब्बारा नहीं मिला?

    सब पार्टिसिपेंट्स ने कहा नहीं हमने बहुत ढूंढा लेकिन हमेशा किसी और के नाम का गुब्बारा ही हाथ आया.

    वक्ता ने कहा कोई बात नहीं एक बार फिर कमरे में जाइये पर इसबार जिसे जो भी गुब्बारा मिले उसे अपने हाथ में लेकर उस व्यक्ति का नाम पुकारे जिसका नाम उस गुब्बारे पर लिखा हुआ है.

    एकबार फिर सभी पार्टिसिपेंट्स कमरे में शांत तरीके से गए, कमरे में किसी तरह की अफरा-तफरी नहीं हुई. सभी ने एक दुसरे को उनके नाम वाला गुब्बारा दिया और सब तीन मिनिट में भी बहार आ गए.

    ये देखकर वक्ता ने गम्भीर होते हुए कहा कि बिलकुल यही चीज हमारे जीवन में भी हो रही हे. हर कोई अपने लिए जी रहा हे, उसे उससे कोई मतलब नही की वो किस तरह औरों की मदद कर सकता हे, वह तो बस पागलों की तरह अपनी ही खुशियां ढूंढ रहा हे, पर बहुत ढूंढने के बाद भी उसे कुछ नही मिलता.

 
बोध:- "हमारी ख़ुशी दूसरों की ख़ुशी में छुपी है, जब आप औरों को उनकी खुशियां देना सीखोगे तो अपने आप ही आपको अपनी खुशियां मिल जाएँगी."

If you have any doubts, Please let me know
EmoticonEmoticon